-->

Blogger Ki Setting Kaise Kare - Setting Ki Puri Jankari

जब आप ब्लॉगर का प्रयोग कर रहे हो तो आप को ब्लॉगर की सेटिंग के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए। कभी कभी ऐसा होता है की हम ब्लॉग तो बना लेते है लेकिन सेटिंग सही से ना होने के कारण ब्लॉग अच्छे पोजीशन नहीं हो पाता है तो हमें चाहिए की हमें ब्लॉगर की सेटिंग अच्छे से करे लेकिन कैसे करे ये हम आपको बता रहे है। 



ब्लॉगर के डैशबोर्ड में जब आप चले जाते है तो आपको बहुत विकल्प मिल जाते है जिसमे से सेटिंग भी होती है उसमे भी बहुत सारे सब विकल्प मिलते है जिसको आपको एक - एक करके बताते है। ब्लॉग की बेसिक सेटिंग सबसे पहले आती है जिसमे आपको अपने ब्लॉग का नाम और ब्लॉग के बारे में लिखना होता है। और एक बात की यदि आप किसी भी सर्च इंजन को दिखाना चाहते है तो आप इसकी प्राइवेसी भी बदल सकते है। 

पब्लिशिंग सेक्शन में आपको डोमेन का एड्रेस देना होता है इसमें पहले से ब्लागस्पाट डोमेन जुड़ा रहता है लेकिन गूगल हमें एक और फीचर दिया है की यदि हम अपना खुद का डोमेन लगाना चाहे तो इसमें लगा सकते है। इसके लिए डोमेन रजिस्ट्रार में जाकर कुछ dns setting  करनी होती है। 



इसके बाद आता है HTTPS की सेटिंग इससे ये पता चलता है की आपका ब्लॉग अपने दर्शको के लिए सुरक्षित है की नहीं यदि ये सेटिंग चालु है तो आपका ब्लॉग ब्राउज़र में सिक्योर दिखायेगा नहीं ब्राउज़र सीधा - सीधा बोल देगा की ये साइट आपके लिए सुरक्षित नहीं है। ऐसे में आपके ब्लॉग पर नकारांत्मक प्रभाव पड़ सकता है। 

Permission आपको बहुत सारे लेखक को अपने ब्लॉग में जोड़ने की सुविधा देता है इसके सहारे हम किसी को अपने ब्लॉग का एडमिन बना सकते है और बहुत सारे लेखकों को अपने ब्लॉग पर लेख लिखने के आमंत्रित कर सकते है। लेकिन मुख्य पावर ब्लॉग ओनर होता है। 


ब्लॉगर की Post, Comment और sharing setting

पहले में आपको पोस्ट को कितना आपके ब्लॉग के होम पेज पर दिखाना है और उसको उसको हम किसी प्रकार से फीचर कर सकते है।  

दुसरा सेटिंग कमेंट की है जिसमे आप कमेंट को अपने ब्लॉग पर दिखा और छिपा सकते है इसमें आप अपने दर्शको कमेंट करने से पहले मेसेज भी दे सकते है की कैसे इस ब्लॉग पर कमेंट करना है।  इसमें यदि किसी ब्लॉग पर लगातार Bot Comment आ रहे है तो उसके लिए भी ब्लॉगर व्यस्था किया हुआ है आप सिक्यूरिटी फीचर चालू कर सकते हो। 



ईमेल के द्वारा आप ब्लॉगर के किसी भी कमेंट को अपने ब्लॉग पर दिखा सकते है। इस फीचर के लिए आपको अपनी ईमेल ब्लॉगर में जोडनि होगी फिर उसे वेरीफाई भी करनी होती है। इसके बाद बिना ब्लॉगर में आये हुए किसी के कमेंट को तुरंत प्रकाशित कर सकते है। 

Language And Formatting

ये वही सेटिंग है जहा से आप अपने ब्लॉग की भाषा बदल सकते है यहाँ से आप अपने पढ़ने वालो के लिए खूब सारी भाषाए जोड़ सकते है। 

Formatting से आप अपने देश की टाइम जोन को सेट कर पाएंगे और अपने ब्लॉग पर टाइम और डेट को किस फॉर्मेट में दिखाना है या किस स्टाइल में दिखानी है। यहाँ से कर सकते है। 

Search Preferences 

हां तो ये वाली सेटिंग ऐसी है की इसमें आपका एक भी गलत सेटिंग बहुत कुछ कर सकती है इसीलिए इसका इस्तेमाल सोच समझ कर करे। 
पहले वाले में मेटा डिस्क्रिप्शन ऐड करने को कह रहा है उसमे जब आप उसको चालू करोगे तो आपके पोस्ट का डिस्क्रिप्शन भी चालू हो जायेगा।  जो किसी भी सर्च इंजन में स्निपेट के रूप में दीखता है ये चीज़े दर्शको आकर्षित कर सकती है और दर्शक बरबस आपके ब्लॉग की तरफ भागे चले जायेंगे। 

 आपको अपने ब्लॉग से किसी भी पेज को दूसरे ब्लॉग के वेबसाइट के पेज और ब्लॉग को रेडिरेक्ट करना है तो आप कस्टम रेडिरेक्शन का प्रयोग करिये। 

क्रॉलिंग एंड इंडेक्सिंग का मतलब है गूगल आपके ब्लॉग को किस तरह से सर्च इंजन  में दिखायेगा और आप उसको किस तरह से कण्ट्रोल कर पाओगे। ये चीज़े आसान  लगती है लेकिन है बहुत कठिन यहाँ पर आपको गूगल वेबमास्टर का लिंक  जायेगा। और अधिक जानकारी के लिए निचे के पोस्ट पढ़े - 

इसी कड़ी में कस्टम रोबोट,टेक्स्ट वाला फीचर भी है इनका  प्रयोग ज़रा सावधानी से करियेगा नहीं तो.. इसके बारे में और ज्यादा जानने के लिए यहाँ जाइये। 

एडसेंस से पैसे कमाने के लिए आपको ब्लॉग पर एड्स दिखने होते है। जब आप उसके लायक पाए जाते है तो आपको विज्ञापन दिखाने की अनुमति दी जाती है। एक और बात की कैसे पता चलेगा इन्हे की ये आपका ब्लॉग है तो आपको पब्लिशर आई डी इसमें ऐड करने को कहा जाता है। इनके कोड की जानकारी के लिए आप यहाँ से पढ़ सकते है -



Other 

इस विकल्प में आपको अपने ब्लॉग का बैकअप लेने के लिए और ब्लॉग को रिस्टोर करने के लिए  किया जाता है। आप को बैकअप लेने के लिए ये पोस्ट पढ़ना होगा। कोई विडियो आप ब्लॉगर पर अपलोड की होगी तो उसको भी मैनेज यहाँ से कर सकते है। 



क्या आपका ब्लॉग एडल्ट केटेगरी में आता है तो आपको गूगल को बताना होगा।

एनालिटिक्स यानि ब्लॉगर के स्टैट्स से भी बड़ा साईट की स्थिति चेक करने वाला वेबसाइट। आप यदि एनालिटिक्स के बारे में नहीं जानते है तो फ़ौरन यहाँ चले जाइये -

सारांश - ब्लॉगर के सेटिंग की पूरी जानकारी 

सबसे अंतिम में आपको विकल्प मिलेगा यूजर सेटिंग की तो यहाँ से आप अपने प्रोफाइल को कैसे दिखाना चाहेंगे आपको पता चल जायेगा। ब्लॉगर को कैसे उसे करना चाहते है यहाँ से ड्राफ्ट कर सकते है। 

तो ये थी जानकारी ब्लॉगर के सभी सेटिंग के बारे में इसमें आपने जाना की कौन से आप्शन मिलते है और उनका किस तरह से प्रयोग किया जाता है। मुझे आशा है की आपको जानकारी पसंद आई होगी। हमें लिखे और सोशल मीडिया पर फॉलो जरूर करे।