14 Mar 2020

32 bit और 64 bit में क्या अंतर है

हमारे कंप्यूटर में मुख्यतः दो प्रकार के प्रोसेसर पाए जाते हैं - 32 bit और 64 bit। प्रोसेसर हमारे कंप्यूटर को ही प्रभावित नहीं करता है बल्कि उसमें  इंस्टॉल किए जाने वाले सॉफ्टवेयर को भी प्रभावित करता है



 हम आपको इस पोस्ट में कंप्यूटर के 2 प्रोसेसर 64 बिट और 32 बिट के बारे में बताने वाले हैं।

32 bit
सबसे पहले 32 बिट प्रोसेसर की शुरुआत हुई थी जो अब तक सभी कंप्यूटरों में लगी होती है विंडोज 95 विंडोज 98 एक्सपी में 32 बिट ऑपरेटिंग सिस्टम इनस्टॉल रहते हैं 32 bit  ऑपरेटिंग सिस्टम शुरुआत 1990 में हुई थी।

यहां पर ध्यान देने योग्य बात है कि खुद किसी भी कंप्यूटर में यदि 32 bit प्रोसेसर लगा है तो उसमें सिर्फ आप 32 बिट वाला ऑपरेटिंग सिस्टम ही इंस्टाल कर सकते हैं।

64 bit
64 bit operating system सन 2000 के बीच आया माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज एक्सपी कंप्यूटरों के लिए 64 मिनिट का प्रोसेसर अपने कंप्यूटर में प्रयोग किया और विंडोज विस्ता विंडोज सेवन और विंडोज 8 भी 64 वर्जन में आये।

64 बिट कंप्यूटर की सबसे बड़ी विशेषता है कि इसमें आप 4GB रैम से ज्यादा अपने कंप्यूटर में प्रयोग कर सकते हैं नहीं तो आप 32 bit वाले ऑपरेटिंग सिस्टम में केवल 4GB रैम तक ही प्रयोग कर सकते थे।

32 bit और 64 bit में अंतर

32 bit और 64 bit में 64 bit वाला processer सबसे ज्यादा powerful होता है।

64 बिट में आप बहुत सारी प्रोग्राम बिना कंप्यूटर के हैंग किए हुए चला सकते हैं।

इसमें आप 4GB रैम से ज्यादा अपने कंप्यूटर में लगा सकते हैं जिससे कंप्यूटर की क्षमता बढ़ जाती है।

अपने 64 बिट कंप्यूटर पर हाई ग्राफिकल गेम जैसे जीटीए हाई प्रोफाइल के गेम बिना हैंग किए हुए खेल सकते हैं।

 32 bit का ऑपरेटिंग सिस्टम एक पुराना ऑपरेटिंग सिस्टम है इसमें आप 64 बिट के सॉफ्टवेयर 32 बिट वाले प्रोसेसर पर नहीं चला सकते हैं।

यदि आपको हाई डेफिनेशन वाले गेम अपने कंप्यूटर पर चलाना चाहते हैं तो आपका कंप्यूटर हैंग करने लगेगा।

32 बिट ऑपरेटिंग सिस्टम वाले कंप्यूटर पर आपसी 4GB ram भी लगा सकते हैं।

पहले 64 bit प्रोसेसर वाले कंप्यूटर 32 bit  कंप्यूटरों की अपेक्षा बहुत ज्यादा महंगे होते थे। लेकिन आज इस प्रकार के कंप्यूटर सभी घरों में पाए जाते हैं क्योंकि इस समय ऑपरेटिंग सिस्टम सस्ता हो गया है।

Load comments